अयोध्‍या मामले में पुनर्विचार याचिका पर असमंजस

0
97

अयोध्‍या (TV News India): श्रीराम जन्मभूमि मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करने को लेकर जमीयत-उलेमा-ए-हिंद का महमूद मदनी गुट असमंजस में है। यही कारण है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपात बैठक में बुधवार देर रात तक मंथन चलता रहा, पर कोई फैसला नहीं किया जा सका।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में शामिल 40 सदस्यों की राय बंटी हुई है। जमीयत के अध्यक्ष अरशद मदनी गुट ने अपना रुख पहले ही स्पष्ट कर दिया है। लखनऊ में हुई मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और जमीयत की बैठक में अरशद मदनी ने पुनर्विचार याचिका दाखिल करने का समर्थन किया है। हालांकि, उसी बैठक को बीच में छोड़कर महमूद मदनी बाहर निकल आए थे।

माना जा रहा है कि वह पुनर्विचार याचिका के पक्ष में नहीं हैं। बैठक में यह भी तय नहीं हो पाया है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन देने के फैसले को स्वीकार किया जाए या नहीं। हालांकि, महमूद मदनी के एक करीबी ने कहा कि उनका अकेले का फैसला जमीयत का निर्णय नहीं हो सकता है। कार्यकारिणी जो निर्णय लेगी वही, जमीयत का रुख होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here