शिव मंदिर परिसर की जमीन पर जबरन कब्जा को लेकर लोगो मे भारी आक्रोश

0
83

ठूठीबारी, महराजगंज (TV News India): नौतनवा रोड पर स्थित शिव मंदिर की जमीन पर अजय कुमार द्वारा जबरन कब्जे को लेकर लोगो मे भारी आक्रोश नजर आ रहा है। दोपहर में हो रहे खड़जा निर्माण कार्य की जैसे ही सूचना लोगों हुई भारी संख्या में लोगो का हुजूम उमड़ पड़ा और निर्माण कार्य बन्द करवाने के लिए निवेदन किए लेकिन निवेदन को अस्वीकार करते हुए निमार्ण कार्य चलता रहा ।घटना चूँकि आस्था से जुड़ा होने के कारण किसी ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दे दी।

मौके पर पहुंचे लक्ष्मीपुर चौकी इंचार्ज अशोक कुमार ने दोनो पक्षों की बात सुनकर किसी तरह मामले को शांत करवाया लेकिन बात न बनी।जिसके कारण मौके पर SDMनिचलौल पहुँच कर हो रहे निर्माण कार्य को रुकवाये। वही ग्रामीणों की माने तो इस मामले में कोतवाली पुलिस की भूमिका पर संदेह जाहिर किया जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस अजय कुमार के प्रभाव में एक तरफा कार्यवाही कर रही है।

ठूठीबारी स्थानीय कस्बे के शिव मन्दिर व्यस्थापक आदित्य मिश्रा, धरमेन्द्र जयसवाल BDC, समाज सेवी धरमेन्द्र सिंह, श्रवण निगम, व्यापार मण्डल अध्यक्ष दिनेश रौनियार, धरमेन्द्र रौनियार, मन्दिर पुजारी अनरुध पाठक, मंजू देवी, पाना देवी, संध्या देवी, मीरा देवी, निशा देवी, गीता देवी, राधिका देवी एवम सुनीता ने कहा कि मंदिर की जमीन पर किसी भी सूरत में कब्जा होने नही दिया जाएगा ।

कस्बे के ठूठीबारी-नौतनवा तिराहे से करीब 50 मीटर दूर नौतनवा रोड पर शिव मंदिर स्थापित है। जिसके सटे बगल में पीपल का बृक्ष है जहाँ सैकड़ो महिला पुरुष पूजा अर्चना करते आ रहे है।शुक्रवार की दोपहर एक व्यक्ति द्वारा पीपल के बृक्ष को अपने कब्जे में लेते हुए मंदिर के मुहाने (द्वार) तक चाहर दीवारी निर्माण कार्य व खड़जा किया जा रहा था तभी इसकी सूचना ग्रामीणों को हो गई और लोगो ने बढ़ चढ़ कर बिरोध भी किया गया। इस बाबत लक्ष्मीपुर चौकी इंचार्ज अशोक कुमार ने बताया कि आरोप निराधार है। दोनों पक्षो को समझा बुझाकर आपसी सहमति से मामले को सुलझाने कि प्रयास किए बात न बनने पर SDMनिचलौल ने मौके पर पहुँच कर निर्माण कार्य को रूकवाया और कहे कि PWDके जमीन पर आप कोई कार्य नहीं करेंगे ।अगर आप फिर से निर्माण कार्य कराये तो आप पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

रिपोर्ट : बजरंगी निगम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here