Breaking News
TV News India
  • Home
  • Exclusive News
  • योगी का ये रूप, जिसे देख दंग रह गये थे पिता, परिवार से छिपाई थी बात
Exclusive News UP Special News ब्यक्ति बिशेष

योगी का ये रूप, जिसे देख दंग रह गये थे पिता, परिवार से छिपाई थी बात

उत्तर प्रदेश (TV NEWS INDIA) सी.एम योगी आदित्यनाथ के पिता का 20 अप्रैल सुबह 10 : 44 मिनट पर दिल्ली के एम्स हास्पिटल में देहांत हो गया योगी जी के पिता रविवार सुबह से ही उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था देश भर में महामारी का संकट और इस शोक संदेश से गमगीन हो गया है माहौल हम आज आपको सी.एम योगी और उनके पिता के बारे में कुछ बेहद खास कहानी बताएंगे, जिसमें वे अपने बेटे को संन्यासी रूप में देखकर कैसे चौंक गए थे और क्या व्यवहार किया था।

तो यह बात 1992 की है, जब सीएम योगी ने अपनी मां से गोरखपुर जाने की बात कही और घर से चल दिए उस समय मां ने सोचा था कि बेटा शायद नौकरी के लिए जा रहा है लेकिन यहां कहानी दूसरी थी सीएम योगी को अपने गांव पंचूर से गोरखपुर निकले लगभग छह महीने से अधिक का समय हो गया था लेकिन उनके बारे में उनके घर वालों के पास कोई सूचना नहीं थी वह कौन सी नौकरी कर रहे हैं, किस जगह कर रहे हैं फिर इस बात को लेकर सीएम योगी के पिता परेशान हो गए इस दौरान सीएम योगी की बड़ी बहन पुष्पा ने अपने पिता को बताया कि गोरखनाथ मंदिर जाइए, वहां आपको सारी सूचना मिल जाएगी।

बड़ी बहन पुष्पा शादी के बाद दिल्ली शिफ्ट हो गई थीं, उन्होंने हिंदी अखबार में छोटी सी खबर पढ़ी थी कि गोरखपुर के सांसद और गोरक्षपीठाधीश्वर ने दो महीने पहले अपने उत्तराधिकारी के नाम की घोषणा कर दी है वह योगी आदित्यनाथ हैं और पौड़ी के रहने वाले हैं मिली इस जानकारी के बाद सीएम योगी के पिता गोरखपुर के लिए चल दिए।

गोरखपुर पहुंचते ही वह सीधे गोरखनाथ मंदिर पहुंच गए वहां पहुंचते ही उन्होंने देखा कि भगवाधारण किए सिर मुड़ाए एक युवा संन्यासी फर्श की सफाई का मुआयना कर रहा था इसके बाद वह जब उनके पास पहुंचे तो हकीकत उनके सामने आ गई, वह उनका अपना बेटा था।

अपने पुत्र को सन्यासी के रूप में देखकर वह अवाक रह गए उन्होंने तो इसकी कल्पना भी नहीं की थी उनके अंदर का पिता जाग उठा उन्होंने कहा कि बेटा यह क्या हाल बना रखा है, यहां से तुरंत चलो।

अपने पिता को अचानक देखकर सीएम योगी आश्चर्य हो गए थे अपनी भावनाओं पर काबू करते हुए उन्हें अपने साथ मंदिर स्थित कार्यालय ले गए उस समय महंत अवैद्यनाथ कहीं बाहर थे फोन के माध्यम से अवैद्यनाथ जी को बताया गया कि योगी जी के पिता आए हैं पीठाधीश्वर ने उनके पिता से बात की और कहा,’आप के पास चार पुत्र हैं, उनमें से एक को समाज सेवा के लिए नहीं दे सकते हैं।’

उनके पास कोई जवाब नहीं था उस समय उनके सामने उनका बेटा नहीं, योगी आदित्यनाथ दिखाई दे रहे थे इसके बाद सीएम योगी के पिता कुछ समय मंदिर में व्यतीत करने के बाद पंचूर लौट गए।

*TV NEWS INDIA*

Related posts

यूपी: देर रात हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार करने गई टीम पर बदमाशों ने बरसाईं गोलियां, आठ पुलिसकर्मियों की मौत सात घायल

tvnewsadmin

अंतर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता(IAAC)2020 के फाइनल राउंड में भारत का प्रतिनधित्व करेंगे शिवम् वर्मा-

tvnewsadmin

उचित सुविधा का अभाव झेलती ऑनलाइन शिक्षा

tvnewsadmin

Leave a Comment