Breaking News
TV News India
  • Home
  • Exclusive News
  • अंतर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता(IAAC)2020 के फाइनल राउंड में भारत का प्रतिनधित्व करेंगे शिवम् वर्मा-
Exclusive News Gorakhpur News महराजगंज शिक्षा जगत

अंतर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता(IAAC)2020 के फाइनल राउंड में भारत का प्रतिनधित्व करेंगे शिवम् वर्मा-

TV NEWS INDIA

अंतर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता(IAAC)2020 के फाइनल राउंड में भारत का प्रतिनधित्व करेंगे शिवम् वर्मा-



Tv news india के रिपोर्टर Gaurav jaiswal की Shivam Verma से हुई बातचीत के कुछ अंश:- 

गोरखपुर में रह रहे Shivam Verma ने अपनी सच्ची लगन और कड़ी मेहनत से आज इस मुकाम को हासिल किया हैं उनका यहां तक का सफर बहुत ही संघर्ष भरा रहा उनको अपनी पढ़ाई और सच्ची लगन पर पूर्ण विश्वास था कि मैं एक दिन उन उचाइयों को छू लूंगा जो मेरा लक्ष्य था आज उस लक्ष्य को प्राप्त करने के मात्र एक कदम दूर हैं इस एक कदम को प्राप्त करते ही Shivam Verma भारत का प्रतिनिधित्व और राजदूत के रूप में नजर आएंगे जो अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है इस उपलब्धि में शिवम वर्मा के माता पिता का योगदान भी बड़ा ही सराहनीय रहा है। उन्होंने अपने पुत्र को उच्च स्तरीय शिक्षा दिलाने में भरसक प्रयास किया।

दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय गोरखपुर से M.sc गणित अंतिम वर्ष के छात्र शिवम वर्मा ने सबसे प्रतिष्ठित ऑनलाइन इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमी और एस्ट्रोफिजिक्स कॉम्पटिशन (अंतर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता) (IAAC) 2020 के दूसरे चरण के लिए भी क्वालीफाई कर लिया है। और फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है।अब वह भारत का प्रतिनिधित्व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर करेंगे।

second round qualified certificate

बताते चले पिछले महीने 25 मई को इन्होंने पहले चरण को क्वालीफाई किया था और इन्हे इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमी और एस्ट्रोफिजिक्स कॉम्पटीशन (IAAC) में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले राजदूत (Ambassador) के लिए भी चुना गया है।

शिवम वर्मा ने अपने पिता शैलेश वर्मा और माता श्रीमती गुड़िया देवी,गोरखपुर विश्वविद्यालय और देश का मान बढ़ाया है। उनके इस सफलता से सभी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

IAAC दुनिया में सबसे बड़ा ऑनलाइन खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी प्रतियोगिता है।
IAAC खगोल विज्ञान में रुचि रखने वाले छात्रों को सक्षम बनाता है ताकि वे अपने कौशल का प्रदर्शन अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कर सके।

बचपन से ही शिवम वर्मा को गणित और अंतरिक्ष विज्ञान में गहरी रुचि रही है। महान खगोल विज्ञानी गैलीलियो ने गणित के बारे में कहा है कि गणित वह भाषा है जिसके साथ ईश्वर ने ब्रह्मांड लिखा है।

उन्होंने बताया कि खगोल विज्ञान में भारत का बहुत बड़ा योगदान है।अगर भारत ने शून्य का आविष्कार नहीं किया होता चाँद तारो के बीच की दूरी का अनुमान लगाना संभव नहीं था।

 

जिला विशेष संवाददाता: गौरव जायसवाल

TV NEWS INDIA

Related posts

महराजगंज:स्वर्ण व्यवसायी के दुकान सेंधमारी लाखो की चोरी,तीन दिन के भीतर तीसरी चोरी

tvnewsadmin

अमिताभ बच्चन अभिषेक बच्चन करोना पॉजिटिव, मुंबई के नानावती हॉस्पिटल में भर्ती

tvnewsadmin

ग्रामीणों ने कमिश्नर को कोटेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग में ज्ञापन पत्र सौंपा

tvnewsadmin

Leave a Comment