TV News India
Uncategorized देश – विदेश

सोशल मीडिया गड़बड़ झाला

सोशल मीडिया गड़बड़ झाला

आज लोग परेशान हैं ये जान कर कि जब इतने बड़े बड़े सेलीब्रिटीज का चैट लीक हो जा रहा तो हम कैसे सुरक्षित हो सकते है।

आपका मोबाइल आपकी ही जासूसी कर रहा है और आपकी कुण्डली कभी भी किसी के सामने खोल सकत है।ये कम्पनियां आपको अपना ऐप फ्री दे रही, वजह साफ है आप ही उनका टार्गेट हैं।

यही वजह है कि अब सोशल मीडिया एकाउंट की भी वसीयत बन रही कि आपके न होने पर कौन उसको खोल सकता है कौन इस्तेमाल कर सकता है।पासवर्ड किसी के साथ शेयर न करें जैसे आप अपना अण्डरवियर किसी को नहीं देते, ब्रश किसी को नहीं देते, ठीक वैसे ही आपको अपना पासवर्ड किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए और हर 6 महीने में इसे बदल देना चाहिए. जो लोग ऐसा नहीं करते, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ती है।

प्राइवेट डेटा को कैसे सुरक्षित रखे ?

आज भारत मे मोबाइल के 70 करोड़ इंटरनेट यूजर्स हैं। लोग जानना चाहते हैं कि वो अपने प्राइवेट डेटा को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं. इसलिए आज हम आपको बताएंगे टेक्नोलॉजी कंपनियों के बड़े-बड़े दावों के बावजूद आपका डेटा कैसे असुरक्षित है और आप कैसे इसे ज्यादा सुरक्षित बना सकते हैं। बात वाट्सऐप की करेंगे।भारत में करीब 40 करोड़ लोग वाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन इन लोगों को शायद ये नहीं पता कि जिस चैट को वो सुरक्षित और प्राइवेट समझ रहे हैं वो कभी भी दुनिया के सामने आपके जीवन के सारे राज खोल सकती है. इससे बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए, वो आप नोट कर लीजिए।

स्क्रीन शॉट्स बिल्कुल न लें
सबसे पहली बात तो ये है कि किसी भी व्यक्ति या ग्रुप के साथ अपनी वाट्सऐप चैट के स्क्रीन शॉट्स बिल्कुल न लें. वैसे तो वाट्सऐप की चैट एंड टू एंड एनक्रिप्टेड होती हैं. यानी इसे मैसेज का आदान प्रदान करने वाले दो व्यक्तियों के अलावा कोई नहीं पढ़ सकता. यहां तक कि वाट्सऐप भी नहीं. लेकिन जब आप अपनी बातचीत का स्क्रीनशॉट लेते हैं तो ये स्क्रीन शॉट मोबाइल फोन में सेव हो जाता है और आपका फोन चोरी होने की स्थिति में या मोबाइल फोन में पासवर्ड न होने की स्थिति में ये चैट किसी और के हाथ लग सकती है.बैक अप डेटा को स्टोर न करें।

दूसरी बात ये है कि जहां तक हो सके आप अपने वाट्सऐप के बैक अप डेटा को क्लाउड स्टोरेज या मोबाइल फोन की लोकल स्टोरेज में स्टोर न करें. अगर आप एंड्रॉयड मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपने गौर किया होगा कि वाट्सऐप हर रात 2 बजे आपके डेटा का एक बैक अप तैयार करता है और ये बैक अप मोबाइल फोन में 10 दिनों तक सुरक्षित रहता है. जो लोग आईफोन का इस्तेमाल करते हैं, उनका DATA भी आई क्लाउड पर स्टोर हो जाता है. लेकिन क्लाउड या फिर मोबाइल फोन पर पर स्टोर होने वाला डेटा एंड टू एंड ए​नक्रिप्टेड नहीं होता और कोई हैकर या अपराधी आसानी से इसे हैक कर सकता है. जरूरत पड़ने पर जांच एजेसियां भी कानूनी तौर पर ऐसा कर सकती हैं।

आपका डाटा पूरी तरह सुरक्षित किसी ऐप पर नहीं है।

जब अमेज़ान के मालिक का मोबाइल एक वीडियो से हैक किया जा सकता है तो आप कौन हैं। वीडियो भी सउदी के प्रिंस के द्वारा भेजा गया था।
जैसे आत्मा को समाप्त नहीं कर सकते, आप नेट पर किए गए किसी कार्य को डीलीट नहीं कर सकते।कोई भी कभी भी आपकी वर्चुअल जिन्दगी को खन्गाँल सकता है।
तो स्वयं मे सुधार करें, ऐप पर भरोसा ना करें।जय हिंद जय भारत।

Related posts

भारत नेपाल सीमा की प्रमुख 10 बॉर्डर 16 अक्टूबर को खोलने की प्रस्ताव को नेपाल सरकार ने दिखाई हरी झंडी

tvnewsadmin

इंडोनेपाल बार्डर सीमा पर फर्जी प्रेस कार्ड एवं कागजात बनाने का धंधा जोरों पर

tvnewsadmin

चीन में नए ‘टिक बोर्न वायरस’ की दस्‍तक, 7 मौतें और 60 से ज्‍यादा लोंग हो चुके हैं संक्रमित, जानिए क्‍या है ये

tvnewsadmin

Leave a Comment