जी.एस.मॉर्डन एकेडमी में ध्वजारोहण कार्यक्रम

महराजगंज ब्यूरो डेस्क TV NEWS INDIA

ब्रजेन्द्र पाण्डेय “आकाश..✍ देशभर में गणतंत्र दिवस की धूम है। 72वें गणतंत्र दिवस के मौके पर नौतनवा कस्बे में स्थित जी.एस मॉर्डन एकेडमी प्रांगण में सुबह मुख्य अतिथि हरिवंश मणि त्रिपाठी के करकमलों द्वारा तिरंगा फहराया गया एवं इस बार कोरोना वायरस के करण गणतंत्र दिवस काफी अलग रहा। इस बार कार्यक्रम भी कम रखे गए, कोविड-19 सतर्कता में सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन किया गया।

मुख्य अतिथि हरिवंश मणि त्रिपाठी ने बताया विश्व की सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक है भारत की बहुरंगी विविधता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है। बता दें कि जब देश को सन् 1950 में 26 जनवरी को संविधान मिला, इसके बाद भारत एक लोकतांत्रिक और गणतंत्र देश घोषित हुआ। इस दिन भारत के प्रथम राष्‍ट्रपति डॉ. राजेन्‍द्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के बाद देश को उसका संविधान सौंपा था। उसके बाद से हर साल ये दिन लोगों के लिए बेहद गौरवमयी होता है जिसे देशवासी हर्षोल्लास से मनाते हैं।

विद्यालय प्रबंधक आर.बी त्रिपाठी ने बताया भारत को आजादी भले ही 15 अगस्त 1947 को मिली लेकिन 26 जनवरी 1950 को भारत पूर्ण गणराज्य बना इसी दिन को पूरा भारत गणतंत्र दिवस के रूप में मनाता है। संविधान 26 नवंबर 1949 में पूरी तरह तैयार हो चुका था लेकिन दो महीने इंतजार करने के बाद इसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया था। इसी क्रम में विद्यालय प्रबंधक आर.बी त्रिपाठी ने तिरंगा बैच लगाकर अतिथियों का सम्मान किया। साथ ही ध्वजारोहण कार्यक्रम में विद्यालय के समस्त स्टॉप, कर्मचारीगण सहित क्षेत्रीय गणमान्य लोग उपस्थित रहे।