तस्करी की खबर पर एसएसबी ने दिया पत्रकार को धमकी

महराजगंज ब्यूरो डेस्क TV NEWS INDIA पत्रकार को देश का चौथा स्तम्भ कहा गया है, लेकिन आए दिन पत्रकारों को सच्चाई लिखना दूभर हो गया है, जहां जिम्मेदार लोगों के द्वारा ही फोन पर पत्रकार को धमकियां दिए जाने लगा है। पत्रकार को सच्चाई लिखने पर उसके कलम को दबाया जा रहा है।

परसामलिक थाना क्षेत्र के ग्राम सभा सेवतरी से हो रही चीनी की तस्करी को लेकर तमाम समाचार पत्रों व आनलाईन पोर्टल पर खबर बड़े ही प्रमुखता के साथ प्रकाशित हुआ था। खबर से बौखलाई एसएसबी ने सीमावर्ती पत्रकारों को धमकियां देने लगी।

एसएसबी ने 9647783659 नम्बर से फोन करके खुद को बरगदवा एसएसबी कैंप प्रभारी साहू जी नामक अधिकारी बताया, एसएसबी के इस अनैतिक व्यवहार से नौतनवां तहसील पत्रकार संगठन ने रोष व्याप्त किया है। संगठन के सभी पत्रकारों ने कहा कि जल्द ही इस मामले को लेकर सभी पत्रकार बंधुओं की एक आवाश्यक मीटिंग बुलाकर एसएसबी के इस अनैतिक व्यवहार के खिलाफ रणनिती बनाई जाएगी।

बता दें कि एसएसबी ने पत्रकार को फोन पर कहा कि तुम तस्करी का खबर क्यों लिखते हो साथ ही अधिकारियों को ट्वीट क्यों करते हो। एसएसबी ने कहा कि पत्रकारों के वजह से ही माहौल बिगड़ रहा है, अगर बहादुरी दिखाना है तो बार्डर पर जाकर बहादुरी दिखाओ। उसने कहा कि जब कोई समान नोमेसलैंड पार हो जाएगा तो उसे तस्करी माना जाएगा फिर एसएसबी उसको संज्ञान लेगी। साथ ही एसएसबी ने यह भी कहा कि तस्करी हो रही है तो पूरा प्रमाण हमें दिखाओ जिसपर सीमावर्ती पत्रकार ने कहा कि हम प्रमाण सिर्फ आपके जिले के अधिकारी को ही दिखाएंगे, जिसपर एसएसबी ने स्थानीय पत्रकार को धमकी देने लगा। वहीं काल रिकार्ड में एसएसबी का अपशब्द शब्दों का भी उच्चारण सुना जा रहा है।

इस संदर्भ में एसएसबी कमांडेंट मनोज सोनवाल ने खेद प्रकट करते हुए कहा कि इस प्रकार का अनैतिक व्यवहार करने वाले एसएसबी का जांच कर उसपर विभागीय कार्यवाही की जायेगी।