ममता बनर्जी की माँ किचन योजना पर बीजेपी ने साधा निशाना, बंगाल में लोगों के पास खाने तक के पैसे नहीं

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. इससे पहले राज्य की ममता बनर्जी सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है. कर्नाटक की इंदिरा कैंटीन तथा तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर ममता बनर्जी सरकार ने बंगाल के गरीबों के लिए ‘मां किचन’ शुरू किया है.

मां किचन थाली में बंगाल के गरीबों को मात्र 5 रुपए में दाल, चावल, सब्जी और एक अंडा मिलेगा. किचन में ऊंचे सब्सिडी दामों पर पोषणभरा खाना मिलेगा. अपनी इस नई योजना को  लॉन्च करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि यह मां किचन है. उन्होंने कहा कि हमें अपनी मां पर गर्व हैं.

ममता बनर्जी ने कहा कि जहां भी कोई मां होगी वहां अच्छी चीजें होंगी. हम सब अपनी माओं को सलाम करते हैं. इसके पहले ममता बनर्जी सरकार गरीबों के लिए दुआरे सरकार (सरकार आपके दरवाजे पर) और स्वास्थ्य साथी (हेल्थ इंश्योरेंस की योजना) शुरू कर चुकी है. इन योजनाओं को सोमवार को कोलकाता में शुरू किया गया. इन्हें पूरे राज्य में शुरू किया जाएगा.

दूसरी तरफ मां किचेन योजना को लेकर भाजपा ने ममता सरकार पर निशाना साधा है. पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रमुख दिलीप घोष ने कहा कि राज्य के लोगों के पास खाना खरीदने तक के पैसे नहीं है, इसलिए ममता बनर्जी को मां कैंटीन चलानी पड़ रही है. ममता बनर्जी ने इससे साबित कर दिया है कि वो असफल रही हैं.