डायबिटीज़ है तो समय रहते हो जाएं सावधान वरना बढ़ सकता है खतरा

लाइफस्टाइल (TV News India): डायबिटीज़ को मामूली समझना बहुत ही बड़ी गलतफहमी है। कई लोग इस बीमारी को बहुत हल्के में ले लेते हैं तो आपको बता दें कि समय रहते इसे कंट्रोल न किया जाए तो ये जानलेवा भी साबित हो सकती है।

अनियमित दिनचर्या, मोटापा, एक्सरसाइज की कमी और तनाव इसके लिए काफी हद तक जिम्मेदार है। इसके साथ ही चीनी, मैदा, चावल, आलू, घी-तेल, जंक फूड, सॉफ्ट ड्रिंक्स और एल्कोहॉल का सेवन करने से भी ब्लड में शुगर लेवल बढ़ जाता है। इसके अलावा आनुवांशिकता भी इसकी प्रमुख वजह है।

डायबिटीज के लक्षण

बहुत अधिक प्यास लगना, पैरों का सुन्न हो जाना, थकान, बार-बार पेशाब आना, मुंह सूखना और त्वचा में खुजली जैसी समस्याएं डायबिटीज़ की ओर संकेत करते हैं। तो अगर आप इस तरह की परेशानियों से दो चार हो रहे हैं तो बिना देर किए जांच कराएं और डॉक्टर से संपर्क करें।

डायबिटीज़ की वजह से प्रभावित हो सकते हैं आपके ये अंग 

1. दिल के लिए नुकसानदायक

डायबिटीज से परेशान लोगों में दिल से जुड़ी बीमारियों का रिस्क लगातार बना रहता है। हाई ब्लड शुगर लेवल के चलते हार्ट अटैक और अन्य दूसरी कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों का खतरा भी रहता है इसलिए ऐसे मरीज़ों को एतिहात बरतने की खास जरूरत होती है।

2. किडनी पर होता है असर

हाई ब्लड शुगर का सबसे ज्यादा असर किडनी पर पड़ता है। इसके काम करने की क्षमता कम होने लगती है और समय रहते जरूरी परहेज न किया गया तो किडनियां काम करना भी बंद कर देती हैं जिसके बाद किडनी डायलिसिस या किडनी ट्रांसप्लांट का ही ऑप्शन बचता है। कई मरीजों की किडनी फेल्योर की वजह से जान भी चली जाती है।

3. डायबिटिक फुट

पैर सुन्न हो जाना डायबिटीज़ के खास लक्षणों में से एक है। हाई ब्लड शुगर की वजह से बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ जाता है। जिसकी वजह से डायबिटीक फीट की समस्या होने लगती है।