Breaking News
TV News India
Uncategorized

s

कुछ एहसास कविताओं के साथ

हम जीवन के महाकाव्य हैं
केवल छ्न्द प्रसंग नहीं हैं।

कंकड़-पत्थर की धरती है
अपने तो पाँवों के नीचे
हम कब कहते बन्धु! बिछाओ
स्वागत में मखमली गलीचे

रेती पर जो चित्र बनाती
ऐसी रंग-तरंग नहीं है। …

Related posts

आठ साल की मासूम बच्ची के साथ तीस साल के युवक ने किया दुष्कर्म

tvnewsadmin

मधुशाला मोह,नहीं लग रहा किसी को कोरोना का डर

tvnewsadmin

कोरोना कर्मवीरों का प्रतिनिधि मण्डल ने किया सम्मान

tvnewsadmin

Leave a Comment