ट्यूलिप और बादाम के फूलों से महका श्रीनगर, दो दिन के टूर में घाटी के इन 5 टूरिस्ट स्पॉट पर जरूर जाएं

0
99

लाइफस्टाइल (TV News India): श्रीनगर इन दिनों ट्यूलिप के फूलों से महक रहा है। सिर्फ इन फूलों की खूबसूरती देखने के लिए देश-दुनिया से पर्यटक यहां पहुंच रहे हैं। एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डेन श्रीनगर में हैं इस साल 12 लाख फूल लगाए गए हैं। इस गार्डेन के आसपास का इलाका भी फूलों की खूबसूरती और झील की यादगार सैर के लिए जाना जाता है जिसे दो दिन के टूर में देखा जा सकता है। जानिए 2 दिन में श्रीनगर में कहां-कहां जाया जा सकता है।

ट्यूलिप गार्डेन : घाटी में बिखरे रंग और खुशबू


डल झील के किनारे पर जबरवान पहाड़ियों के बीच बना रंगे-बिरंगे ट्यूलिप के फूलों का बगीचा 90 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। प्राकृतिक सुंदरता के कारण इस बगीचे में दुनियाभर में खास पहचान बनाई है। इसकी शुरुआत खासतौर पर घाटी में पर्यटकों की संख्या को बढ़ाने के लिए की गई थी। इसे देखने के लिए साल दर साल पर्यटकों की संख्या बढ़ती गई और फूलों की खूबसूरती में भी इजाफा होता गया। लाल, गुलाबी, पीले, सफेद, बैंगनी और नीले रंगों के ट्यूलिप धरती पर बिछी रंग-बिरंगी चादर जैसे दिखते हैं जो पर्यटकों को अपनी ओर खींचते हैं। 

चश्म-ए-शाही गार्डेन : यहां हैं फूलों की दुर्लभ प्रजातियां

यह श्रीनगर का सबसे छोटा मुगल गार्डेन है। इसे रॉयल स्प्रिंग गार्डेन के नाम भी जाना जाता है। हिमालच और डल झील की खूबसूरती को यहां से कैमरे में कैद किया जा सकता है। गार्डेन में एक ऐसा झरना भी है जिसके बारे में कहा जाता है कि इसके पानी में औषधीय गुण हैं। यहां फूलों की दुर्लभ प्रजातियां देखने को मिलती हैं।

परी महल : कभी यह खगोल विज्ञान और ज्योतिष सीखने का केंद्र था

चश्‍मे-ए-शाही गार्डेन के ऊपरी हिस्से में परी महल बना हुआ है। इसे मुगल बादशाह शाहजहां के पुत्र दारा शिकोह ने बनवाया था। कभी यह महल खगोल विज्ञान और ज्योतिष सीखने का एक केंद्र था। छह छज्जों वाले इस महल को दाराशिकोह ने अपने सूफी गुरु मुल्ला शाह बदाख्शी के सम्मान में बनवाया था। यहां के बगीचे में फूलों और फलों की कई प्रजातियां देखने को मिलती हैं।

डल झील : पानी पर इठलाती हाउसबोट से देखें घाटी के नजारे

यह कश्मीर की दूसरी सबसे बड़ी झील है इसे श्रीनगर का गहना भी कहते हैं। डल झील को शिकारा यानी लकड़ी की नाव और हाउसबोट की सैर के लिए भी जाना जाता है। ऐसे लोग जिन्हें वॉटर गेम्स पसंद हैं उनके लिए यह झील खासतौर पर पसंद आएगी। यहां स्वीमिंग, वॉटर सफिर्ंग, कैनोइंग जैसे कई खेलों का आनंद उठाया जा सकता है। इसके अलावा नागीन झील भी जाया जा सकता है।

बादामवाड़ी : कैमरे में कैद करें बादाम के पेड़ों की खूबसूरती


श्रीनगर आएं तो बादामवाड़ी का रुख जरूर करें। बादाम के पड़ों की खूबसूरती आपको निराश नहीं करेगी। यहां के फूलों का दिलकश नज़ारा देखने के लिए दुनिया भर में पर्यटक पहुंचते हैं और इनकी खूबसूरती को कैमरे में कैद करना नहीं भूलते हैं। बादामवाड़ी कोह-ए-मारन पहाड़ियों के बीच में स्थित है और साल भर सैलानियों के लिए खुली रहती है।

ट्रैवल गाइड

    • कब जाएं : फूलों की खूबसूरती को देखने के लिए अप्रैल से अक्टूबर के बीच जा सकते हैं।
    • कैसे पहुंचे : ट्यूलिप गार्डेन श्रीनगर से 9 किलोमीटर की दूरी पर है। श्रीनगर से यहां जाने के लिए बस उपलब्ध हैं। अधिकतर टूरिस्ट प्लेसेस श्रीनगर से 10 किलोमीटर के दायरे में हैं, जहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।

Posted By: Priyamvada M

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here