हौसला बुलंद हो तो कोई कार्य कठिन नहीं होता, इसे साकार कर दिखाया है दिव्यांगों की टोली ने

0
109

देश विदेश (TV News India): बिहार के पूर्वी चंपारण जिले में स्थित रक्सौल शहर के कैंब्रिज स्कूल में राष्ट्रीय दिव्यांग व्हीलचेयर बास्केटबॉल प्रतियोगिता की तैयारी बिहार के दिव्यांग खिलाड़ी कर रहे हैं। ये सभी स्पाइनल इंज्युरी के कारण खड़ा होने में असमर्थ है पर जीवन से हार ना मानकर समाज में बराबरी के साथ जीना चाहते हैं, उसे चरितार्थ कर दिखाया है। मोहाली पंजाब में 24 जून से 29 जून तक राष्ट्रीय व्हील चेयर बास्केटबॉल प्रतियोगिता आयोजित है जिसमें 23 राज्यों के दिव्यांग खिलाड़ियों की टीमें भाग लेंगी।

रक्सौल निवासी रवि कुमार ने बताया कि पांचवें राष्ट्रीय प्रतियोगिता में बिहार की टीम ने भाग लिया था एवं क्वार्टर फाइनल तक पहुंचने के बाद हम हार गए। हमारे पास मूलभूत सुविधा नदारद है ।बिहार के कैप्टन राकेश कुमार ने बताया कि हमारे पास किसी भी प्रकार की राजकीय सहयोग प्राप्त नहीं है। दूसरे राज्यों के खिलाड़ी के पास स्पोर्ट व्हीलचेयर है ,हमारे पास मैनुअल व्हील चेयर है और ना ही अन्य साधन उपलब्ध है। फिर भी हम अन्य राज्यों के साथ मुकाबला कर रहे हैं , मैनुवल व्हीलचेयर कभी भी गिर सकता है और वह हल्का भी नहीं होता। स्पोर्ट्स व्हीलचेयर हल्का होता है ,गिरता भी नही है । उसका सामना करना बहुत ही कठिन होता है ,लेकिन हम बिहारी खिलाड़ी सीमित एवम स्वयं प्रयोजित संसाधनों से करके दिखला रहे हैं। हमें अच्छा करने के लिए सरकार की मदद की आवश्यकता है ।

रक्सौल में 13 से 21 जून तक कैम्ब्रिज स्कूल में राष्ट्रीय प्रतियोगिता की तैयारी सुबह 5:00 बजे से लेकर 9:00 बजे सुबह तक चल रही है । सभी खिलाड़ी एक साथ खेलते हुए नजर आ रहे हैं।ये सभी पूरे बिहार के खिलाड़ी हैं। इसकीपूरी व्यवस्था रक्सौल का रवि कर रहा है जिसकी बीरगंज से रक्सौल आते वक्त ऑटो दुर्घटना में रीढ़ टूट गई और जीवन में कभी खड़ा नहीं हो सकता है ।वही उसमें से एक खिलाड़ी है और उसने ही सभी खिलाड़ियों के खाने की व्यवस्था किया है। उसने बताया कि डंकन अस्पताल का सहयोग मिल रहा है जिसके चलते ये कार्य सम्पन्न हो रहा है। गया के शैलेश कुमार, नवादा के राजीव कुमार, बक्सर के दीपक शर्मा, जहानाबाद के रमेश यादव, पटना के धीरज कुमार, रक्सौल के राजू सहनी आदि प्रमुख खिलाड़ी है जो प्रतिदिन इस तैयारी में लगे हुए हैं ।

आज शिक्षाविद एवं प्रमुख पर्यावरणविद् डॉ अनिल कुमार सिन्हा ,स्वच्छता के सिपाही सुरेश कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता दुर्गेश साह ,पंकज गुप्ता, सूरज गुप्ता, प्रवेश गुप्ता ,मुकेश गुप्ता आदि ने जाकर स्थल पर खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया। स्थानीय पशुपति लाल कोच का भी कार्य कर रहे है साथ ही खिलाड़ियों का हौसला बढ़ा रहे हैं।सबों ने कहा कि इस तरह की तैयारी रक्सौल के लिए गर्व की बात है और ये खिलाड़ी समाज के लिए विशेषकर युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत है ।

रक्सौल, बिहार
मोहम्मद मुस्ताक आलम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here