आर्टिकल 370 को लेकर संसद में असंसदीय व्यवहार को लेकर हो सकती है कठोर कार्रवाई

0
91

नई दिल्ली (TV News India):जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के दो राज्यसभा सांसदों पर उनके संसद में असंसदीय व्यवहार को लेकर कठोर कार्रवाई की तलवार लटकने लगी है. उनके आपत्तिजनक आचरण का मामला एथिक्स कमेटी को भेजा जा सकता है. उप राष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू दोनों सांसदों के दुर्व्यहार का प्रकरण आचरण समिति को भेजने का विचार कर रहे हैं. यदि दोनों सांसद दोषी पाए जाते हैं तो उनकी सदस्यता निरस्त की जा सकती है.

राज्यसभा में अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के संकल्प पर बहस के दौरान पीडीपी के सांसद नजीर अहमद लावे और मोहम्मद फयाज ने विरोध जताते हुए असंसदीय व्यवहार किया था. राज्यसभा के इन दोनों पीडीपी सांसदों के सदन के भीतर आचरण का मामला एथिक्स कमेटी को भेजा जा सकता है. राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू नजीर अहमद लावे और मोहम्मद फयाज के सदन के भीतर दुर्व्यवहार का मामला आचरण समिति को भेजने पर विचार कर रहे हैं.

POSTED by:-Ashish Jha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here