हत्या की ऐसी वारदात जिसने हर किसी को झकझोर दिया …….

0
37

ऋषिकेश की चिल्ड्रन होम अकादमी के सातवीं कक्षा के छात्र वासु यादव की जान आंतरिक रक्तस्राव से गई। कमर से निचले हिस्से में की गई पिटाई जान लेवा बनी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसी हिस्से में गंभीर चोट का निशान है, जबकि अन्य स्थानों पर मारपीट और खरोंच के निशान पाए गए हैं। उधर पुलिस ने दो प्रत्यक्षदर्शियों के धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने को कोर्ट से अनुमति मांगी है। रानीपोखरी स्थित चिल्ड्रन होम अकादमी के छात्र वासु यादव की है। बारह साल के वासु को उसके साथियों ने बेरहम तरीके से मारा था। पिटाई करने के साथ उसे गंदा पानी भी पिलाया गया है।

आरोपी वासु को स्टडी रूम में छोड़कर भाग गए थे। वासु का इतना बड़ा कसूर नहीं था कि उसके सांसें तक छीन ली जाए। वासु की हत्या से उसके परिवार को गहरा आघात लगा है। यह तो पहले ही साफ हो गया था कि वासु को बल्ले और विकेट से पिटाई की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है।

बल्ले और विकेट से कमर के निचले हिस्से में की गई पिटाई से अंदरूनी हिस्से में रक्तस्राव हुआ है। इसी ब्लीडिंग की वजह से उसकी जान गई है। एसओ पीडी भट्ट के मुताबिक पीएम रिपोर्ट में कमर के निचले हिस्से में गंभीर चोट लगी है। यहीं पर काफी खून एकत्र हो गया था। शरीर पर कोई बाहरी जख्म भी नहीं है। अन्य हिस्सों में मामूली मारपीट और खरोंच के निशान पाए गए हैं।
वासु की हत्या के मामले में पुलिस साक्ष्यों के संकलन में जुटी है। घटना के दो प्रत्यक्षदर्शी भी सामने आए है, जिनके धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने की तैयारी है। विवेचक ने बुधवार को गवाहों के बयान दर्ज कराने की अनुमति मांगी है। आज मजिस्ट्रेट के समक्ष गवाहों के बयान दर्ज हो सकते है। पुलिस के मुताबिक अकादमी के हॉस्टल में 42 छात्र रहते हैं।

रविवार को बच्चे हॉस्टल से चर्च जा रहे थे। आरोप है कि इसी बीच सामान खरीदते हुए वासु ने दुकान से बिस्कुट का पैकेट चोरी कर लिया था। दुकानदार की शिकायत पर स्कूल प्रशासन ने बच्चों के बिना अनुमति के बाहर जाने पर रोक लगा दी थी। इसी बात को लेकर साथी छात्रों ने वासु यादव की पिटाई कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here