बाबरी मस्जिद के पक्षकार पर देशद्रोह सहित गम्भीर धाराओ में मुकदमा दर्ज करने का आदेश

0
201

देश-विदेश (TV News India): राम जन्मभूमि V/s बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी सहित पांच के खिलाफ कोर्ट ने मंगलवार को देशद्रोह सहित गंभीर धाराओं में FIR दर्ज कर विवेचना करने का आदेश दिया है। यह आदेश अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह की अर्जी को स्वीकार करते हुए न्यायिक मजिस्ट्रेट देवेंद्र प्रताप सिंह की अदालत से हुआ। मामले में थानाध्यक्ष, रामजन्मभूमि को अनुपालन आख्या तीन दिन के अंदर अदालत में प्रस्तुत करने का आदेश दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता संगीता सिंह व हाईकोर्ट लखनऊ बेंच के अधिवक्ता राजेश त्रिपाठी ने बताया कि प्रतापगढ़ जिले के अंतू थाना क्षेत्र के रायचंदपुर निवासी अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह ने आरोप लगाया कि तीन सितंबर को वह लखनऊ से अपने ममेरे भाई प्रभु दयाल सिंह के साथ अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि के दर्शन करने आई थीं। जहां राम मंदिर निर्माण के संबंध में कुछ लोगों से चर्चा हुई। इस दौरान कुछ लोग मुझे इकबाल अंसारी के घर ले गए।

अलबत्ता, वर्तिका वहां नहीं थीं। उनके अधिवक्ता रामशंकर त्रिपाठी व पवन तिवारी ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर यह क्रास प्राथमिकी होगी। वर्तिका सिंह ने इंकबाल अंसारी व उनके परिवार की तीन महिलाओं व एक लड़के के विरुद्ध आरोप लगाया है। यहां बता दें कि इंकबाल अंसारी की तहरीर पर वर्तिका के विरुद्ध पहले ही जबरिया घर में घुसना, मारपीट, गाली देना, हत्या की धमकी की धाराओं में मुकदमा दर्ज हो चुका है।

वर्तिका के मुताबिक, तीन सितंबर को वह अपने ममेरे भाई प्रभुदयाल सिंंह के साथ अयोध्या आई थीं। उन्होंने कुछ संतों से राममंदिर निर्माण के बारे में चर्चा की। किसी ने इकबाल अंसारी से मिलने की सलाह दी। दोपहर करीब एक बजे इकबाल अंसारी के घर पहुंची। वे चर्चा के बहाने घर के अंदर ले गए। तहरीर के मुताबिक, इकबाल अंसारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी पर सत्ता के लिए राजनीति कर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। राम मंदिर व देश के बारे में आपत्तिजनक बातें कहने का भी आरोप लगाया गया है। विरोध पर उनके साथ मारपीट की कोशिश हुई। किसी तरह इकबाल के गनर ने बचाया। बाद में स्थानीय पुलिस की मदद से वह लखनऊ आ गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here