सैलाब का सितम, खतरे के निशान से ऊपर बह रही गंगा

0
33

वाराणसी (TV News India): अगले कुछ दिन बनारस पर भारी पड़ने वाले हैं। ये किसी ज्योतिषी की भविष्यवाणी नहीं है बल्कि गंगा के रौद्र रुप को देखने के बाद लोग कह रहे हैं। गुस्साई गंगा ने अब घाट की सीढ़ियां छोड़ शहर का रुख कर लिया है। नतीजा ये है कि दर्जनभर से अधिक कालोनियां जलमग्न हो चुकी हैं। हजारों लोग घरों में कैद होने पर मजबूर हैं। बाढ़ के आगे सब बेबस हैं। सैलाब के सितम को देख बनारस सहम गया है।

काशी की कालोनियां टापू में तब्दील हो गईं है। सड़कों पर गाड़ियों नहीं, नावें चल रही हैं। लोग घरों में कैद होने पर मजबूर हैं। हर वक्त सैलानियों से आबाद रहने वाले अस्सी घाट की। घाट के नाम पर सिर्फ यहां बने मंदिर की छत दिखाई दे रही है। गंगा अब घाटों को छोड़ जब गंगा ने शहर का रुख किया तो हाहाकार मच गया। दर्जनों कालोनियों से संपर्क टूट गया है। जहां भी नजर घुमाईए, हर तरफ सिर्फ पानी ही पानी दिखाई देगा।

ये सामने घाट के मारुति नगर की तस्वीरें हैं। कालोनी में घुटनों तक पानी घुस गया है। लोग घरों से निकल तो जरुर रहें हैं लेकिन जान हथेली पर लेकर। गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। बताया जा रहा है कि अगले 24 घंटे बनारस पर भारी हैं। क्योंकि जिस रफ्तार से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा, उससे बाढ़ का खतरा और गहरा जाएगा। फिलहाल गंगा का जलस्तर 71.28 मीटर बताया जा रहा है। गंगा प्रति घंटे एक सेंटीमीटर की रफ्तार से बढ़ रही हैं। अगर आने वाले कुछ घंटों में ये रफ्तार कायम रही तो शहर के कई और इलाके जलमग्न हो जाएंगे। बाढ़ के हालात से निबटने के लिए एनडीआरएफ के आला अफसरों ने मोर्चा संभाल लिया है। बाढ़ ग्रस्त इलाकों में एनडीआरएफ के जवान लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं और बाढ़ में फंसे लोगों का रेस्क्यू कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here