खुले में शौच कर रहे दलित बच्चों की ‘पीट-पीटकर हत्या’

0
99

मध्य प्रदेश (TV News India): मामला ज़िले के सिरसौद थाना क्षेत्र के भावखेड़ी गांव का है. जहां पर बुधवार की सुबह वाल्मीकि समाज के दो बच्चे, रोशनी जिसकी उम्र 12 साल और अविनाश जिसकी उम्र 10 साल बताई जा रही है, पंचायत भवन के सामने सड़क पर शौच कर रहे थे.
पुलिस के मुताबिक़ हाकिम ने दोनों बच्चों को सड़क पर शौच करने से मना किया और कहा कि सड़क को गंदा कर रहे हो. उसके बाद उसने रामेश्वर के साथ मिलकर हमला कर दिया.
पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया है. जानकारी के मुताबिक़ दोनों नाबालिग रिश्ते में बुआ और भतीजे थे.
घटना के बाद तनाव की वजह से क्षेत्र में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. अविनाश के पिता मनोज वाल्मीकि ने दावा किया, “दोनों सुबह 6 बजे शौच के लिये निकले थे. हाकिम और रामेश्वर यादव ने उनकी लाठियों से पिटाई की. उन्होंने दोनों को तब तक मारा जब तक उनकी मौत नहीं हो गई. जब मैं वहा पहुंचा तो दोनों वहा से भाग गये थे.”

मनोज का यह भी कहना है कि उनके घर पर शौचालय बनने के लिये पंचायत के पास पैसा भी आ गया था लेकिन “इन लोगों ने उसे बनने नहीं दिया.” उनका यह भी दावा है कि इन लोगों की वजह से गांव में उनके परिवार के साथ बदसलूकी की जाती थी.
अविनाश ने यह भी बताया कि दो साल पहले उन्होंने गांव में अपनी झोपड़ी बनाने के लिये सड़क से लकड़ी काट ली थी उसके बाद से अभियुक्तों ने उनसे दुश्मनी पाल ली थी, वह उनके साथ गाली-गलौज करते रहते थे और वह उन्हें धमकाते भी थे और मज़दूरी कम देते थे.
सिरसौद पुलिस स्टेशन के प्रभारी आर एस धाकड़ ने बताया, “दोनों बच्चें खुले में शौच कर रहे थे जिस पर अभियुक्तों ने आपत्ति की और उसके बाद उन्होंने उनकी लाठियों से पिटाई कर दी.”
शिवपुरी के एसपी राजेश चंदेल ने बताया कि इस मामलें में दोनों अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया गया है और उन पर हत्या का मामला दर्ज कर दिया गया है.
उन्होंने कहा, “भावखेड़ी में लाठियों से पीट-पीटकर दो बच्चों को मार दिया गया है. इस मामले में दोनों अभियुक्तों पर हत्या का केस दर्ज किया गया है. उनसे पूछताछ की जा रही है.”
पुलिस घटना की पूरी जानकारी इकठ्ठा कर रही है.

POSTED by:-Ashish Jha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here